2 Line Shayari

Zindagi Ka Tajurba 2 Line

अब समझ लेते हैं मीठे लफ़्ज़ की कड़वाहटें,
हो गया है ज़िंदगी का तजुर्बा थोड़ा बहुत।

You Might Also Like

No Comments

    Leave a Reply