Dosti Shayari Judai Shayari

Judai Shayari on Dosti

आ की तुझ बिन इस तरह ऐ दोस्त घबराता हूँ मैं,
जैसे हर शै में किसी शै की कमी पाता हूँ मैं।

– जिगर मोरादाबादी

You Might Also Like

No Comments

    Leave a Reply