Dosti Shayari

Quality Time Dosti Shayari

वो कोई दोस्त था अच्छे दिनों का,
जो पिछली रात से याद आ रहा है।

– नाशिर काज़मी

You Might Also Like

No Comments

    Leave a Reply