Intezaar Shayari Love Shayari

Intezaar Sad Love Shayari by Gulzar

आदतन तुमने कर दिए वादे,
आदतन हमने ऐतबार किया,
तेरी राहों में हर बार रूककर,
हमने अपना ही इंतज़ार किया!

– गुलज़ार

You Might Also Like

No Comments

    Leave a Reply