Life Shayari

Ajeeb Din Shayari on Life

न सो सका हूँ न शब जाग कर गुज़ारी है
अजीब दिन हैं सुकूँ है न बे-क़रारी है

~ ज़ुहूर नज़र

You Might Also Like

No Comments

    Leave a Reply