Maa Shayari

Crying Maa Baap Shayari

घर आ कर बहुत रोये माँ-बाप अकेले में,
मिट्टी के खिलोने भी सस्ते नहीं थे मेले में।

You Might Also Like

No Comments

    Leave a Reply