मोहब्बत में आशिकों का हाल

जिससे मोहब्बत होती है ना….
.
.
.
फिर उसका
पिंपल भी डिंपल लगता है।

रणवीर, जैसलमेर

Hasrat Emotional Love Shayari

मेरी एक हसरत थी तुझे पाने की,
फिर पाकर न कभी दूर जाने की,
अब थक गया हूं, बहुत हार गया हूं,
बहुत बड़ी सजा मिली है, मुझे दिल लगाने की।

Mera Bharat 15 August Message

गंगा यमुना यहाँ नर्मदा,
मंदिर मस्जिद के संग गिरजा.

शांति प्रेम की देता शिक्षा,
मेरा भारत सदा सर्वदा…

आजकल के जागरूक युवा

आजकल के युवा बहुत जागरूक हो गए हैं…
.
.
.
पूरी रात जागते ही रहते हैं।

वीरेंद्र, गाजियाबाद

पप्पू ने बताया दिल-हार्ट में अंतर

टीचर: दिल और हार्ट में
क्या अंतर है?
.
.
.
पप्पू: जो जवानी में धड़के वह दिल और
जो बुढ़ापे में धड़के वह हार्ट है।

तरुण, शाहदरा

Humne Kisi Ka Dil

जहाँ खामोश फिजा थी, साया भी न था,
हमसा कोई किसी जुर्म में आया भी न था,
न जाने क्यों छिनी गई हमसे हंसी,
हमने तो किसी का दिल दुखाया भी न था।

दुनिया से उठने लगा विश्‍वास

सोनू: मेरा अब दुनिया से विश्‍वास उठने लगा है।

मोनू: क्‍यों क्‍या हुआ?

सोनू: यार, फेसबुक पर लंबे-लंबे पोस्‍ट करने वाले लोग भी कस्‍टमर केयर में हिंदी के लिए 2 दबाते हैं!

रोहित, औरंगाबाद

दुनिया में बढ़ गया विश्वासघात

दुनिया में विश्वासघात इतना बढ़ गया है कि लोग अपने ही चार्जर पर विश्वास नहीं करते…
.
.
.
5 मिनट बाद चेक करते हैं कि
फोन चार्ज हो रहा है या नहीं!

पप्पू, दिल्ली

Love Had Found Wide Publicity

My love had found wide publicity
Like flower scent, it had gained spontaneity

How can I say beloved has forsaken me
This true, but to say it is not propriety

Leaving me, beloved always returned to my fold
How well it speaks of beloved’s fickle quality

May you ever prosper in unison with beloved
One hell is night of loneliness with its longevity

When beloved had just caressed my burning forehead
My soul felt as cured by this touch of Jesus faculty

Even now in rainy season, body is aching
Longings are revived, wishes join priority…

– Parveen Shakir

आजकल के लोग और गुड नाइट

आजकल लोग गुड नाइट अच्छी नींद से लिए कम…
.
.
.
पीछा छुड़ाने के
लिए ज्यादा बोलते हैं।

प्रेरणा, कानपुर

Zindagi Sham Shayari

कभी इतराती तो कभी जुल्फों को बिखराती है,
ज़िदगी शाम है, और शाम ढली जाती है।

Janmashtami 2 Line Shayari Status

मैंने तो प्रीत गोविन्द संग लगा ली,
जिसका रंग सांवला चेहरे पर है लाली।