शादी से पहले और बाद में

शादी से पहले तो इश्क रहता है और शादी के बाद…
.
.
.
‘इ’ निकल जाता है और
सिर्फ शक बाकी रह जाता है।

– गरिमा, दिल्ली

‘एक्जाम वॉरियर’ ब्रेल लिपि में भी उपलब्ध

नयी दिल्ली, पांच जनवरी (भाषा) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लिखी किताब ‘एक्जाम वॉरियर’ का अब ब्रेल लिपि में भी लोकार्पण किया गया है। यह पुस्तक परीक्षा से संबंधित तनाव को दूर करने में मार्गदर्शन करती है। ‘‘एक्जाम वॉरियर कम्युनिटी’’ ने ट्वीट किया कि शनिवार को विश्व ब्रेल दिवस पर किताब का ब्रेल संस्करण लाया गया। इस ट्वीट को प्रधानमंत्री ने भी साझा किया है। ट्वीट के अनुसार किताब का ब्रेल संस्करण हिंदी के साथ साथ अंग्रेजी भाषा में भी उपलब्ध होगा। प्रकाशक के अनुसार किताब में चित्रात्मक प्रस्तुति, गतिविधियों और योगाभ्यास के बारे में बताया गया है।

सोनू के पड़ोस में लड़की की शादी

सोनू के पड़ोस में लड़की की शादी थी। विदाई के समय मां-बाप बहुत रो रहे थे।

सोनू ने लड़की के पिता के कान में कहा,
इतनी ही चिंता थी तो मुझसे शादी करवा देते।

सबने इतना मारा कि अब सोनू रो रहा है।

अंकित, जयपुर

Dost Ki Jarurat Shayari

ऐ दोस्त हम ने तर्क़-ए-मोहब्बत के बावजूद,
महसूस की है तेरी ज़रूरत कभी-कभी।

– नासिर काज़मी

Dosti Shayari in Hindi

Dost Se Dosti Nibhaate Chaley Gaye
Zindagi Se Saath Nibhaate Chaley Gaye
Jab Lagi Thokrein Beshumaar Zindagi Mein
Mere Woh Dost Hi The Jo Gale Lagaate Chale Gaye …

Very Sad Hindi Shayari on Love

Dil Letter

बिछड गया …
बिछड गया कोई हमसे अपना

करीबी वक्त की मार में
कोई हो गया अंजान हमसे
किसमत की इस चाल में

टूट कर बिखर गये अरमान मेरे
इस कदर
फिर टूट गया मेरे इस दिल का भी सबर

बिछड गया कोई हमसे अपना
पहली दफह किसी को इतना चाह था मैनें
उसे फिर अपना खुदा माना था मैंने

वो मेरे ख्यालों में जीया करता था
मेरे हर साँस की एक वजह वो भी हुआ करता था

बिछड गया कोई हमसे अपना

उसे इज्हार कर हमने अपनी मुहब्बत का इहसास कराया था
खामौशी में उसने भी फिर प्यार जताया था

मैं उम्मीदों को जिंदा रख जीने लगा था
उसके हर दुख को अपना समझ पीने लगा था

बिछड गया कोई हमसे अपना

वो दुखी सा होकर हम्हें इंकार करता था
वजह अंजान थी क्योकि हर बार करता था

मैं उसे सच्ची मुहब्बत करने लगा
उसके हाँ के इतजार में जीने लगा

बिछड गया कोई हमसे अपना

सब कुछ अच्छा चल रहा था
उसे भी है अब प्यार एसा लग रहा था

फिर अचानक इक भवंडर आया
मेरी जीवन में तूफान ले आया

बिछड गया कोई हमसे अपना

उसके अतीत का इक पन्ना आज उसका आज बनकर आया
मेरे दिल में हलचल मची फिर उसने मुझे बहुत रूलाया

टूट गया मैं अपनी क़मुहब्बत को संजोता – संजोता इस कदर…
देख ना सका अपना बुरा भी हर डगर

बिछड गया कोई हमसे अपना

फिर उसकी खुशी के लिए फिका सा मैं भी हंस दिया
हर अरमान मैंने अपना जिंदा दफन फिर मैनें कर लिया

आज वो दूर है मुझसे ए सच है
मुझे प्यार आज भी है उस्से ए भी सच है

उस उपर वाले की मर्जी नें मुझे अलग कर दिया
वो अलग हुआ पर मुझे पत्थर दिल कर दिया

बिछड गया कोई हमसे अपना …

– Saurabh Saini

Mera Aasmaan Tha Sara

Main Pa Ska Na Kabhi Is Khalish Se Chhutkara
Voh Mujhse Jeet Bhi Sakta Tha, Jaane Kyon Hara

Barash Ke Khul Gye Aansu Nithar Gyi Hai Fiza
Chamak Raha Hai Sare-Sham Dard Ka Tara

Kisi Ki Aankh Se Tapka Tha Ik Amaanat Hai
Meri Hatheli Pe Rakha Hua Ye Angara

Jo Per Samete To Ik Shaakh Bhi Nhi Payi
Khule The Per To Mera Aasmaan Tha Sara

– Javed Akhtar

नया साल आया या नई साली

कुछ लोग तो नया साल आने पर ऐसे खुश हो रहे हैं…
.
.
.
जैसे नया साल नहीं,
नई साली आने वाली है।

नवनीत, नोएडा

पप्पू अपनी मां के साथ गया रेस्ट्रॉन्ट

पप्पू अपनी मां के साथ रेस्ट्रॉन्ट खाना खाने गया।
वहां एक आदमी सिगरेट पी रहा था।

पप्पू: आप सिगरेट बाहर जाकर पी लीजिए।
मेरी ममी मेरे साथ है।

शख्स: …तो क्या हुआ?

पप्पू: …तो मेरा भी मन पीने का हो रहा है।

नवीन, जोधपुर

Taare Tutt Jaate Hai

कभी कभी मोहब्बत में वादे टूट जाते हैं,
इश्क़ के कच्चे धागे टूट जाते हैं,
झूठ बोलता होगा कभी चाँद भी,
इसलिए तो रुठकर तारे टूट जाते हैं।

पति के दिल की बात

पति: तुमसे शादी करके मुझे एक फायदा हुआ है।

पत्नी: कौन सा फायदा?

पति: मुझे मेरे गुनाहों की सजा इसी जन्म में मिल गई।

केशव, दिल्‍ली

Bewafa Se Mohabbat

Sad in Love

Kyun Daaman Ko Dagdar Karte Ho,
Kyun Bewafa Se Mohabbat Karte Ho,

Jo Poojta Hai Tumhein Khuda Ki Tarha,
Kyun Uski Mohabbat Ko Badnaam Karte Ho…