Sad Shayari

Humne Bhi Aankho Ko

दिल मेरा जो अगर रोया न होता,
हमने भी आँखों को भिगोया न होता,
दो पल की हँसी में छुपा लेता ग़मों को,
ख़्वाब की हक़ीक़त को जो संजोया नहीं होता!

You Might Also Like

No Comments

    Leave a Reply