Categories
Sad Shayari

Naseeb Mei Ho

जिसके नसीब मे हों ज़माने की ठोकरें,
उस बदनसीब से ना सहारों की बात कर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *