Sad Shayari

Taare Tutt Jaate Hai

कभी कभी मोहब्बत में वादे टूट जाते हैं,
इश्क़ के कच्चे धागे टूट जाते हैं,
झूठ बोलता होगा कभी चाँद भी,
इसलिए तो रुठकर तारे टूट जाते हैं।

You Might Also Like

No Comments

    Leave a Reply